हवा मे क्या है लीरिक्स

The best romantic song from the movie Jaagruti released in the year 1992 starring Salman Khan and Karishma Kapoor. Music composed by Anand Milind and lyrics by Sameer.

Movie Details

Movie: Jaagruti

Singer/Singers: S P Balasubramaniam

Music Director: Anand Milind

Lyricist: Sameer

Actors/Actresses: Salman Khan and Karishma Kapoor

Year/Decade: 1992

Music Label: Zee Music

Song Lyrics in English Text

Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Fiza Me Kya Hai Mausam Hai, Dil Me Kya Hai Tera Pyar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Fiza Me Kya Hai Mausam Hai, Dil Me Kya Hai Tera Pyar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai

Main Chand Tu Hai Meri Chandani, Main Rag Tu Hai Meri Ragini
Main Chand Tu Hai Meri Chandani, Main Rag Tu Hai Meri Ragini
Aawaz Main Teri Tu Mera Geet Hai
Main Teri Priytama Tu Mera Mit Hai
Tere Liye Main Lu Janam Sanam Hajaro Baar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Fiza Me Kya Hai Mausam Hai, Dil Me Kya Hai Tera Pyar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai

Jo Dil Me Thi Wo Lab Pe Baat Hai, Ye Apni Murado Ki Raat Hai
Jo Dil Me Thi Wo Lab Pe Baat Hai, Ye Apni Murado Ki Raat Hai
Khamosh Hai Jaha Kehta Hai Ye Gagan
Dharti Ki Sez Pe Ek Honge Do Badan
Is Bekrari Me Bhi Mujhko Aata Hai Karar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Fiza Me Kya Hai Mausam Hai, Dil Me Kya Hai Tera Pyar
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai
Hawa Me Kya Hai Khushbu Hai, Lehar Me Kya Hai Sargam Hai
Fiza Me Kya Hai Mausam Hai, Dil Me Kya Hai Tera Pyar

Song Lyrics in Hindi Font/Text

हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
फ़िज़ा में क्या है मौसम है
दिल में क्या है तेरा प्यार
हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
फ़िज़ा में क्या है मौसम है
दिल में क्या है तेरा प्यार
हवा में क्या है खुशबू है

मैं चाँद तू है मेरी चांदनी
मैं रैग तू है मेरी रागिनी
मैं चाँद तू है मेरी चांदनी
मैं रैग तू है मेरी रागिनी
आवाज़ में तेरी तू मेरा गीत है
मैं तेरी प्रियतमा
तू मेरा मीत है
तेरे लिए मैं लूँ
जनम सनम हजारों बार

हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
फ़िज़ा में क्या है मौसम है
दिल में क्या है तेरा प्यार
हवा में क्या है खुशबू है

जो दिल में थी वो लब पे बात है
ये अपनी मुरादों की रात है
जो दिल में थी वो लब पे बात है
ये अपनी मुरादों की रात है
खामोश है जहां
कहता है ये गगन
धरती की सेज पे
एक होंगे दो बदन
इस बेक़रारी में भी
मुझको आता है करार
हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
फ़िज़ा में क्या है मौसम है
दिल में क्या है तेरा प्यार
हवा में क्या है खुशबू है
हवा में क्या है खुशबू है
लहार में क्या है सरगम है
फ़िज़ा में क्या है मौसम है
दिल में क्या है तेरा प्यार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here