MAIN KISI AUR KA LYRICS

MAIN KISI AUR KA LYRICS – in Hindi, दर्शन रावल द्वारा गाया गया। गाने को गुरप्रीत सैनी, गौतम शर्मा ने लिखा है और संगीत सिद्धार्थ अमित भावसार द्वारा बनाया गया है। दर्शन रावल अभिनीत। म्यूजिक लेबल इंडी म्यूजिक।

Kitne mausam guzar gaye
Yeh dard kyun guzarta hi nahi
Kya wafa karun main kisi aur se
Tu dil se utarta hi nahi

kitne mausam guzar gaye lyrics


Tu aaj bhi dhoondhti hai
Logo se mera baaton baaton mein
Kya haal tu puchti hai

MAIN KISI AUR KA

Main kisi aur ka, tu kisi aur ki
Kaise hai jee rahe
Jhoothi yeh zindagi

Main kisi aur ka, tu kisi aur ki
Kaise hai jee rahe
Jhoothi yeh zindagi

kitne mausam gujar gaye

Tanhaiyaan hoti hai kya
Puchho bin taaron ke akele mehtab se
Yaad tujhe kitna kiya
Puchho aankhon se behte yeh sailab se

MAIN KISI AUR KA LYRICS

Jo bhar de zakhm pyar ka
Marham koyi bana nahi
Jo humse dil tha keh raha
Woh kyun humne suna nahi

kitne mausam gujar gaye lyrics

Main kisi aur ka, tu kisi aur ki
Kaise hai jee rahe
Jhoothi yeh zindagi

MAIN KISI AUR KA LYRICS

Main kisi aur ka, tu kisi aur ki
Kaise hai jee rahe
Jhoothi yeh zindagi.. O..

Main kisi aur ka, tu kisi aur ki

मैं किसी और का LYRICS IN Hindi

कितने मौसम गुज़ार गये
यह दर्द क्यूँ गुज़रता ही नही
क्या वफ़ा करूँ मैं किसी और से
तू दिल से उतरता ही नही

क्यों उसकी आँखों में मुझे
तू आज भी ढूँढती है
लोगों से मेरा बातों बातों में
क्या हाल तू पुचहति है

मैं किसी और का तू किसी और की
कैसे हैं जी रहे
झूठी यह ज़िंदगी

मैं किसी और का तू किसी और की
कैसे हैं जी रहे
झूठी यह ज़िंदगी

तनहाईयाँ होती हैं क्या
पुच्च्ो बिन तारों के अकेले महताब से
याद तुझे कितना किया
पुच्च्ो आँखों से बहते यह सैलाब से

जो भर दे ज़ख़्म प्यार का
मरहम कोई बना नही
जो हुंसे दिल था कह रहा
वो क्यूँ हुँने सुना नही

मैं किसी और का तू किसी और की
कैसे हैं जी रहे
झूठी यह ज़िंदगी

मैं किसी और का तू किसी और की
कैसे हैं जी रहे
झूठी यह ज़िंदगी

मैं किसी और का तू किसी और की

SEE MORE

SHOR MACHEGA LYRICS – YO YO HONEY SINGH

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here